Dual Pixel Technology Kya Hoti Hai Poori Jankari

Dual Pixel Technology Kya Hoti Hai Poori Jankari – दोस्तों, जब से SAMSUNG ने GALAXY S7 और GALAXY S7 Edge को लांच किया है तब से ही DUAL PIXEL TECHNOLOGY की काफी चर्चा हो रही है | क्योंकि उन फ़ोन के CAMERE में DUAL PIXEL TECHNOLOGY का इस्तमाल किया गया था| अब DUAL PIXEL TECHNOLOGY क्या है ये कैसे काम करती है इसके बारे मैं मे आपको पूरी जानकारी देने वाला हूँ ऐसा पहली बार हुआ है की इस TECHNOLOGY को किसी फ़ोन में इस्तमाल किया गया है क्योंकि इससे पहले किसी भी फ़ोन में इस TECHNOLOGY का इस्तमाल नहीं किया गया है |

इसका इस्तमाल सिर्फ PROFESSIONAL DSLR CAMERA में ही किया जाता था | और CANON 70D वो पहला CAMERA है जिसमे इस TECHNOLOGY का इस्तमाल किया गया है अगर आप किसी से भी पूछो की अच्छा DSLR CAMERA कौन सा है तो ज़्यादातर लोगो का ये ही जवाब होगा की CANON 70D सबसे अच्छा CAMERA है | DUAL PIXEL TECHNOLOGY, CAMERA में AUTO FOCUS के लिए काम में आती है और वो AUTO FOCUS की SPEED को बहुत बहुत तेज़ कर देती है जिसकी मदद से AUTO FOCUS काफी जल्दी और आसानी से हो जाता है

इसे भी पढ़ेWhat Is a Mega Pixel | Mega Pixel Kya Hota Hai

DUAL PIXEL TECHNOLOGY

अगर बात की जाएं MOBILE PHONE CAMERAS की तो उसमे DUAL PIXEL TECHNOLOGY से पहले तो उनमे के AUTO FOCUS के लिए 3 तरह की TECHNOLOGY का इस्तमाल होता था

TECHNOLOGY 1

जिस TECHNOLOGY का सबसे ज़्यादा इस्तमाल किया जाता है आज के समय में चाहे वो कोई सा भी फ़ोन क्यों न हो सस्ता या महंगा उस TECHNOLOGY का नाम है CDAF (Contrast Detection Auto Focus) – ये एक ऐसी TECHNIQUE है जिसमे CAMERA, OBJECT और BACKGROUND के बेच में MAXIMUM CONTRAST का POINT ढूंढता है आपने देखा होगा की जब आप कोई फोटो लेते है और कही पर FOCUS करते है तो CAMERA बहुत देर से FOCUS करता है और कभी कभी वो FOCUS गलत भी कर लेता है

इसे भी पढ़े  – kernel Kya Hota Hai Android Phone Me? Poori Jankari 

TECHNOLOGY 2

2 CDAF के बाद SAMSUNG ने GALAXY S5 में एक नई TECHNIQUE का इस्तमाल किया जिसका नाम था PDAF(Phase Detection Autofocus) इस TECHNIQUE में PIXELS का PAIR होता है PAIR का मतलब की 2 PIXELS एक साथ जुड़े होते है और उनमे से एक PIXEL, LEFT SIDE से आने वाली चीज़ों को CAPTURE करता है और दूसरा PIXEL, RIGHT SIDE से आने वाली चीज़ों को CAPTURE करता है | और जब ये दोनों मिल जाते है तो ये पता लगा सकते है की कोई SUBJECT/OBJECT कितनी दूर है ताकि वो LENS को आगे या पीछे करके FOCUS ले सके एक बात और की सारे PIXELS का PAIR नहीं होता कुछ ही PIXELS होते है जो FOCUS के काम में आते है

TECHNOLOGY 3

3 इनके बाद LG के अपने G3 PHONE के साथ लांच किया LASER AUTOFOCUS इसके काम करने का तरीका बहुत ही आसान है इसमें CAMERE के पास एक LASER लगी होती है और जब आप कोई फोटो CLICK करते है तो सबसे पहले वो LASER जलती है और सामने रखे OBJECT से टकराती है और वापस आ जाती है तो कैमरे को ये पता चल जाता है की वो OBJECT कितनी दूर रखा है और फिर आराम से FOCUS हो जाता है

इसे भी पढ़े  – Cache Memory Kya Hoti Hai Poori Jankari

DUAL PIXEL TECHNOLOGY

अब बात आती है DUAL PIXEL TECHNOLOGY की तो ये TECHNOLOGY उन तीनो TECHNOLOGY से आगे निकल जाती है | DUAL PIXEL में हर एक PIXEL के नीचे 2 COMPONENT लगे होते है जो अलग अलग काम करते है दोनों COMPONENTS में से एक CAPTURE करता है RIGHT SIDE से आने वाली LIGHT को और दूसरा CAPTURE करता है LEFT SIDE से आने वाली LIGHT को और जब ये दोनों मिल जाते हैं तो CAMREA को आसानी से पता चल जाता है की OBJECT कितना दूर है और बहुत ही जल्दी FOCUS भी हो जाता है ये कुछ कुछ CDAF TECHNOLOGY की तरह ही है लेकिन उसमे कुछ PIXEL FOCUS के लिए होते थे लेकिन इस TECHNOLOGY में सारे ही PIXEL FOCUS के लिए काम करते है | और जब सारे PIXEL एक साथ जुड़ जाते है तो आपको एक बहुत ही अच्छी IMAGE देखने को मिल जाती है


मैं उम्मीद करता हु की मेरे द्वारा दी गई जानकारी आप सभी को पसंद आये होगी अगर आप इसके बारे में और कुछ जानना चाहते है या कुछ बताना चाहते है तो आप नीचे COMMENT BOX में COMMENT कर सकते है

GO TECH GYAAN

RAHUL, में इस वेबसाइट का फाउंडर हुँ और ये वेबसाइट मैंने लोगो की मदद के लिए बनाई है जो की बिलकुल मुफ्त है | मेरी टेक्नोलॉजी में बहुत ही ज़्यदा रूचि है और जो भी कुछ नया आता है मैं उसे कही न कही से ढूंढने की कोशिश करता रहता हुँ | मैं New Delhi का रहने वाला हुँ | में अपनी पूरी कोशिश करूँगा इस वेबसाइट को बेहतर से बेहतर बनने की और आप लोगो के साथ ज़्यदा से ज़्यदा ज्ञान बांटने की |

3 thoughts on “Dual Pixel Technology Kya Hoti Hai Poori Jankari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *